हमने भी कुछ खोया नहीं-हिन्दी शायरी


अपनी राह चलते जाना है
कहीं फूल बरसेंगे
तो कहीं लोग ताने कसेंगे
थोड़ी खुशी के लिये
बहुत दूर तक ढूंढते बहाने
निराश होने पर
भागने लगते हैं गम भुलाने
ऐसे लोगों के इशारे पर
अगर चले जिंदगी की राह पर
तो ताउम्र अपनी मंजिल को तरसेंगे
……………………………………………….

उनके इशारे पर लड़ते रहे जमाने से
वह तो रहे पर्दे में, मतलब रख कमाने से
जो वक्त आया तो फेर लीं नजरें हमसे
जब मिलने गये तो लगे अनजाने से
उन्होंने बहुत कुछ पा लिया
पर हमने भी कुछ खोया नहीं
हमें भी मतलब था
कुछ जिंदगी के सच देखने से
अपना मकसद पूरा किया
अपनी जिंदगी को आजमाने से

Advertisements
Post a comment or leave a trackback: Trackback URL.

टिप्पणियाँ

  • vikas  On 04/10/2008 at 15:44

    अपनी राह चलते जाना है
    कहीं फूल बरसेंगे
    तो कहीं लोग ताने कसेंगे
    थोड़ी खुशी के लिये
    बहुत दूर तक ढूंढते बहाने
    निराश होने पर
    भागने लगते हैं गम भुलाने
    ऐसे लोगों के इशारे पर
    अगर चले जिंदगी की राह पर
    तो ताउम्र अपनी मंजिल को तरसेंगे

  • vipin  On 24/12/2009 at 13:54

    no comment

  • suresh  On 19/02/2010 at 12:20

    god sharey

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: